चिड़िया के दुख भरे बोल अपने बच्चों के लिए

एक चिड़ियाँ माँ के बोल जब उसको एक किसान पकड़ लेता है और राजा के पास ले जाता हैं। तो वह कई लोगों से बोलती हैं मुझको इस निर्दय किसान से छूड़बा दो। नहीं तो मेरे बच्चे उस नदीं के पानी में बह जाएगे। उनको बचाने के लिए छूड़बा दो। ये बहुत ही दर्द भरे […]

आयों हम चले , मिलकर कुछ करे

आयों हम चले , मिलकर कुछ करे , यह है हमारा जीवन इसको हम स्वसथ्य करे , आयों हम चले , मिलकर कुछ करे। मन में है विशवास , हम सब मिलकर चले , इस जग के लिए, जान भी अपनी दे चले , आयों हम चले , मिलकर कुछ करे।‌ वातावरण के लिए , […]